क्या हैं 8,9 और 10 डिग्री चैनल और भारत से क्या है इनका रिश्ता, जानें

भूगोल के क्षेत्र में आपने अक्सर डिग्री चैनल जैसे शब्दों का जिक्र जरूर सुना होगा। स्कूलों में सामान्य ज्ञान की पुस्तकों में भी इन विषयों के बारे में बताया जाता है। इन डिग्री चैनल में सबसे अधिक 8,9 और 10 डिग्री चैनल को लेकर चर्चा की जाती है। हालांकि, क्या आपको इन सभी चैनलों के बारे में पता है। यदि नहीं, तो इस लेख के माध्यम से हम इन सबके बारे में जानेंगे। 

क्या होता है चैनल

चैनल एक चौड़ा खुला जलमार्ग होता है, जो एक दूसरे के पास स्थित दो भूभागों यानि जमीन के टुकड़ों से होकर गुजरता है। यह Strait से अलग है, जो पानी की दो बड़ी वॉटर बॉडी को जोड़ने का काम करता है।  

चैनल या तो ग्लेशियरों द्वारा या लोगों द्वारा बनाए जाते हैं। ग्लेशियरों द्वारा निर्मित चैनल जमीन के दो हिस्सों के बीच गहरी घाटियां बनाते हैं। वहीं, लोगों द्वारा बनाए गए चैनल आमतौर पर बड़े जहाजों के लिए मार्ग बनाने के लिए उथले जलमार्गों के नीचे से खोदे जाते हैं।  

 

दस डिग्री चैनल

1- यह बंगाल की खाड़ी में अंडमान द्वीप समूह और निकोबार द्वीप समूह को एक दूसरे से अलग करता है और भारतीय केंद्र शासित प्रदेश अंडमान और निकोबार द्वीप समूह बनाता है।

2- यह उत्तर से दक्षिण तक 150 किमी चौड़ा और पूर्व से पश्चिम तक 10 किमी लंबा है और इसकी न्यूनतम गहराई 7.3 मीटर है।

3- इसका यह नाम इसलिए रखा गया है, क्योंकि यह भूमध्य रेखा के उत्तर में 10 डिग्री अक्षांश रेखा पर स्थित है।

See also  Are Ballet Flats the ‘It’ Spring Shoe? Celebrities Seem to Think So, and This New Release May Be Your Dream Pair

नौ डिग्री चैनल

1- यह मिनिकॉय द्वीप को मुख्य लक्षद्वीप द्वीपसमूह से अलग करता है। कल्पेनी व सुहेली पार, मलिकु एटोल और अमिनदीवी उपसमूह मिलकर केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप बनाते हैं।

2- यह 2597 मीटर की गहराई के साथ 200 किमी चौड़ा है।

3- इनवेस्टीगेटर बैंक – एक जलमग्न किनारा – इस चैनल के दक्षिणी क्षेत्र में स्थित है।

4- यह रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह यूरोप, मध्य-पूर्व और पश्चिमी एशिया के साथ दक्षिण-पूर्व एशिया और सुदूर-पूर्व के बीच लगभग सभी व्यापारिक शिपिंग का मार्ग है।

5- इसका यह नाम इसलिए रखा गया है, क्योंकि यह भूमध्य रेखा के उत्तर में 9 डिग्री अक्षांश रेखा पर स्थित है।

आठ डिग्री चैनल

1- मालदीव और भारत के बीच समुद्री सीमा आठ डिग्री चैनल से होकर गुजरती है। यह मिनिकॉय और मालदीव द्वीपों को अलग करता है।

2- मलिकु कंदु और ममाले कंदु दिवेही आठ डिग्री चैनल के पारंपरिक नाम हैं।

3- इसका यह नाम इसलिए रखा गया है, क्योंकि यह भूमध्य रेखा के उत्तर में 8 डिग्री अक्षांश रेखा पर स्थित है।

संक्षेप में, आठ डिग्री चैनल मिनिकॉय और मालदीव के द्वीपों को अलग करता है, नौ डिग्री चैनल मिनिकॉय द्वीप को मुख्य लक्षद्वीप द्वीपसमूह से अलग करता है और दस डिग्री चैनल अंडमान द्वीप समूह और निकोबार द्वीप समूह को बंगाल की खाड़ी में एक दूसरे से अलग करता है।  इनका नाम इसलिए रखा गया है, क्योंकि ये भूमध्य रेखा के उत्तर में आठ, नौ और दस डिग्री अक्षांश रेखा पर स्थित हैं।

 पढ़ेंः बर्फ की सिल्लियों से बनी थी भारत की पहली AC Train, जानें

See also  All the Details on Demi Lovato's Show-Stopping, Pear-Shaped Engagement Ring from Jutes (Exclusive)

Categories: Trends
Source: HIS Education

Rate this post

Leave a Comment